Banking ki taiyari kaise kare in hindi po clerk,manager banking ki taiyari

By | January 18, 2023

banking ki taiyari kaise kare in hindi ? अगर आप नौकरी की तलाश कर रहे हो वह भी सरकारी, मेरा सलाह यह रहेगा बैंक की तैयारी करें. पर क्यों ? बैंक की तैयारी इसलिए करना चाहिए, क्योंकि बैंक की वैकेंसी हर चार महीने में आते रहती है. और आपका चुनाव होना इस परीक्षा में ज्यादा मुमकिन है.
अगर आप एसएससी की तैयारी करना चाहते हो तो उसमें आपको 1 साल का समय देना होता है और रिजल्ट आते आते तो 3 साल लग जाते हैं ,ऐसे करते करते हैं आपका उम्र ही निकल जाता है अगर आपके सरकारी नौकरी नहीं लगी तो.

Banking ki taiyari kaise karePO,clerk,manager,job

आज के इस पोस्ट में bank ki taiyari kaise karen के बारे में बात करेंगे. इसमें हमने हर चीज का वध किया है. जैसे bank की जितनी भी exam होती है वह सब की strategy शेयर की है.

bank po ki taiyari kaise kare
bank clerk ki taiyari kaise kare
bank manager ki taiyari kaise kare
banking job ki taiyari kaise kare
bank manager ki taiyari kaise karen

बैंक की तैयारी के लिए आपको सिर्फ एक ही सिलेबस को पढ़ना है, चाहे जो भी परीक्षा हो, आप को सिर्फ वहीं से question आने वाला है. यही फायदा है बैंक की तैयारी करने का.
जैसे जैसे, एग्जाम की level बढ़ेगी, प्रश्नों का कठिनाई भी उसी स्तर पर बढ़ेगी. जैसे, बैंक क्लर्क की नौकरी के लिए आप को काफी आसान प्रश्न पूछा जाएगा, अगर वही बैंक की PO or Manager की पोस्ट पर प्रश्न की कठिनाई बहुत ज्यादा होती है.

लेकिन जब भी अब तैयारी करते हो बैंक की, कि आप BANK PO की ही तैयारी करें. क्यों की एक तैयारी से आपकी सारे Bank कि नौकरी लगने के चांसेस बढ़ जाते हैं.

Banking ki taiyari kaise kare PO,clerk,manager,job

अच्छे से प्लानिंग करें.

जैसे हमने आपको बताया, बैंक क्लर्क के लिए अलग प्रश्न आते हैं और बैंक PO के लिए अलग प्रश्न आते हैं. अगर आप इन दोनों का पिछले साल का कट ऑफ देखते हैं, आपको काफी हैरानी होगी बैंक क्लर्क के लिए आपको 80 में से 75/78 तक के लाना होगा तब जाकर आपका बैंक क्लर्क का प्रीलिम्स निकलेगा. अगर वही आप बैंक पीओ की कटऑफ देखते हैं आप को आसपास 80 में से 60/55 तक के लाना होता है.

जब भी आप तैयारी करते हो तो, यह प्लानिंग कर ले कि, आपको कितना पढ़ना है, क्या पढ़ना है. पिछले साल का कटऑफ जरूर देख कर जाए. क्वेश्चन पेपर पिछले साल का हल जरूर करें. और सिलेबस को अच्छी तरह से ज्ञात कर लीजिए कि आपको क्या-क्या कवर करना है.

एक अच्छा टाइम टेबल बना ले.

किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए, आपके पास अच्छा टाइम टेबल होना चाहिए. बिना उसके आप एग्जाम को पास नहीं कर सकते. क्योंकि कंपटीशन काफी ज्यादा है और ऐसे एग्जाम को पास करना आज के समय में बहुत ही कठिन कार्य है. लेकिन आप इसे आसान बना सकते हो अगर आप एक नियमित रूप से तैयारी करते हैं तो. प्रतिदिन आपको 100 से 200 प्रश्न हल करने हैं , चाहे वह मैक्स के हो , रीजनिंग के हो, या इंग्लिश के हो. जितना ज्यादा आप प्रेक्टिस करोगे उतना अच्छा आप की तैयारी होगी.

एक समय निर्धारित कर ले कि आपको दिनभर करना क्या है ऐसे मैं आपकी तैयारी एक सही पटरी पर होगी और आप ना पाओगे कि आपने कितना सीखा और कितना बचा है सीखने को. आपकी कमजोरी भी पता चलेगा.

सिलेबस को अच्छी तरह से पढ़े

बैंक की सिलेबस काफी बड़ी नहीं है लेकिन कुछ लोगों के लिए यह काफी कठिन भी है. सिलेबस एक बार जरूर जांचें और देखिए कि आप इनमें से किन विषयों पर आपका मजबूती है और किन विषय में आपका मजबूती कम है. जिन विश्व में आपका मजबूत ही कम है उस पर अच्छी पकड़ बनाइए और कोशिश करें कि सिलेबस को छोटा-छोटा करके पूरी सिलेबस कवर करें.

इसे पढे – Best Bank Books

बहुत लोगों का यह डर है कि उनका गणित काफी कमजोर है, गणित के लिए आपको एक अच्छी रणनीति चाहिए. गणित के लिए आपको बस जितना हो सके उतना प्रेक्टिस करना होगा तभी जाकर आपका गणित मजबूत होगा. वैसे मैं आपको बता दूं, बहुत लोगों का गणित कमजोर ही होता है. और गणित में 40 प्रश्न आते हैं तो अधिकतर लोग 25-30 ताकि उसे सही कर पाते हैं. अगर आप इन 30 नंबर के लिए तैयारी करते हैं अच्छे से तो आपका चयन होना सुनिश्चित है. जो टॉपिक आपको काफी हार्ड लगता है उसे आप छोड़कर जिसे आपको आसानी लगता है उसे अच्छा मजबूत बना ले.

प्रैक्टिस और रिवाइज करें.

देखिए, जो भी परीक्षा हो. बिना प्रैक्टिस और रिवीजन के बिना कोई सा भी परीक्षा नहीं निकलने वाला. क्योंकि आप जितने भी तैयारी करते हैं आप एक समय पर उसे भूल ही जाते हैं. मान के चलिए आज आपने गणित पढ़ा उसमें भी TIME/WORK पढ़ा, और आपने उसे 2 महीने तक के खोल कर ही नहीं देखा. जब आपने दोबारा 2 महीने के बाद उसे पढ़ने की कोशिश करोगे, तो आपको ऐसा प्रतीत होगा कि पहले आपने कभी पढ़ाई ही नहीं. फिर अब दोबारा तैयारी करोगे, फिर दोबारा क्लास लोगे, फिर प्रैक्टिस लगाओगे, ऐसे करते-करते आपका समय व्यर्थ होना तय है. इसी कारण जितना हो सके उतना तैयारी करें, समय-समय पर रिवीजन और प्रैक्टिस करते रहे.

एक अच्छा मित्र / mentor होना चाहिए .

जिंदगी का एक सूत्र है, अगर आपके आसपास के लोग आपसे ज्यादा होशियार है, ज्यादा विद्वान है तो आप भी जरूर उनके तरह कभी ना कभी बनी जाओगे. अगर आपका कोई ऐसा मित्र है जो तैयारी कर रहा है तो दोनों साथ मिलकर तैयारी करें. अगर आपके पास कोई ऐसा गुरु है जो इस परीक्षा को निकाल चुका है, तो उससे अच्छा कोई बात ही नहीं हो सकता. ऐसे लोग ही आपको मदद करेंगे इस परीक्षा को पास करने के लिए. क्योंकि उनके पास अपार ज्ञान और कला है, तभी उन्होंने यह परीक्षा को पास किया है. अगर उनका साथ आपको मिल जाता है तो आप इस परीक्षा को आसानी से पास कर जाओगे. जैसे वह guru आपको सलाह देंगे आपको ऐसे ही करें, तो आप को कोई रोक नहीं सकता इस परीक्षा को पास करने के लिए.

लेकिन परेशानी यह है कि ऐसा ही गुरु मिलना काफी मुश्किल है. पर आपको जरूर मिलेगा अगर आप कोशिश करते हैं तो.

उम्मीद करता हूं आपको अच्छे से समझ आ गया होगा कि आप इस परीक्षा को कैसे तैयारी करें. अगर कोई प्रश्न है तो नीचे कमेंट करें. पूरी पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद.

Website | + posts

मैं एक फ्रीलांसर हूं और मैं यहां काम कर रही हूं मुझे आर्टिकल लिखना काफी पसंद है। मेरी लिखी हुई आर्टिकल कई सारे बड़े वेबसाइट पर पब्लिश है। मुझे ज्यादा टेक्नॉलजी ओर reviews जैसे आर्टिकल लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *