Rashtra geet lyrics | राष्ट्रीय गीत हिन्दी में लिखा हुआ | Rashtra geet in hindi | Rashtriya Geet Written By

क्या आप राष्ट्रीय गीत लिखा हुआ  की तलाश में हो ?  हमने इस लेख में,राष्ट्रीय गीत हिंदी में लिखा हुआ  आपके साथ साझा किया है. Rashtra geet written by  “वंदे मातरम” 1875 में बंकिम चंद्र चटर्जी द्वारा लिखित एक देशभक्ति कविता है, जो बाद में भारत का राष्ट्रीय गीत बन गया। इसे बंगाली भाषा में सबसे महत्वपूर्ण साहित्यिक कार्यों में से एक माना जाता है और इसकी रचना के बाद से भारतीय राष्ट्रवादियों के लिए एक प्रेरणा रही है। कविता मातृभूमि की स्तुति और पूजा करती है, और इसका शीर्षक “मैं आपको नमन करता हूं, मां” के रूप में अनुवादित किया जा सकता है।

इस पोस्ट में rashtra geet lyrics  आपके साथ साझा किया है.  यह राष्ट्रीय गीत इन हिंदी मे आपके साथ प्रस्तुत किया है.  तो चलिए देखते हैं rashtra geet in hindi।  उसके बाद हमने यह भी साझा किया है  रोचक तथ्य  rashtra geet hindi । 

राष्ट्र गीत, जिसे राष्ट्रीय गीत के रूप में भी जाना जाता है, एक देशभक्ति गीत है जो राष्ट्रवाद के गौरव और अपने देश के प्रति प्रेम की भावनाओं को जगाता है। “वंदे मातरम” को भारत का राष्ट्रीय गीत माना जाता है। वंदे मातरम के पहले दो छंदों के बोल यहां दिए गए हैं, जिन्हें आधिकारिक तौर पर भारत के राष्ट्रीय गीत के रूप में अपनाया गया था:

Vande Mataram Meaning In Hindi – वन्दे मातरम् का अर्थ – ‘वन्दे मातरम्

छंद 1:

वन्दे मातरम्।

सुजलाम् सुफलाम्

मलयज शीतलाम्

शस्यश्यामलाम्

मातरम्।

वन्दे मातरम्।

छंद 2:

शुभ्रज्योत्स्ना

पुलकितयामिनीम्

फुल्लकुसुमित

द्रुमदलशोभिनीम्

सुहासिनीम्

सुमधुर भाषिणीम्

सुखदाम् वरदाम्

मातरम्।।

वन्दे मातरम्

अनुवाद:

छंद 1:

मैं आपको नमन करता हूँ, माँ,

बहुतायत से सिंचित, भरपूर फल देने वाला, दक्षिण की हवाओं से शीतल,

कटनी की फसल से अँधेरा, माँ!

अनुवाद

छंद 2:

उसकी रातें चांदनी की महिमा में आनन्दित होती हैं,

खिले खिले उसके वृक्षों से सुशोभित उसकी भूमि,

हँसी की मीठी, वाणी की मीठी,

वरदान देने वाली, सुख देने वाली माता।

यहां  पढ़े –  vande mataram meaning in hindi meaning 

वंदे मातरम Full Song in देवनागरी लिपि

वन्दे मातरम्

सुजलां सुफलाम्

मलयजशीतलाम्

शस्यश्यामलाम्

मातरम्।

शुभ्रज्योत्स्नापुलकितयामिनीम्

फुल्लकुसुमितद्रुमदलशोभिनीम्

सुहासिनीं सुमधुर भाषिणीम्

सुखदां वरदां मातरम्॥ १॥

कोटि कोटि-कण्ठ-कल-कल-निनाद-कराले

कोटि-कोटि-भुजैर्धृत-खरकरवाले,

अबला केन मा एत बले।

बहुबलधारिणीं

नमामि तारिणीं

रिपुदलवारिणीं

मातरम्॥ २॥

तुमि विद्या, तुमि धर्म

तुमि हृदि, तुमि मर्म

त्वम् हि प्राणा: शरीरे

बाहुते तुमि मा शक्ति,

हृदये तुमि मा भक्ति,

तोमारई प्रतिमा गडी मन्दिरे-मन्दिरे॥ ३॥

त्वम् हि दुर्गा दशप्रहरणधारिणी

कमला कमलदलविहारिणी

वाणी विद्यादायिनी,

नमामि त्वाम्

नमामि कमलाम्

अमलां अतुलाम्

सुजलां सुफलाम्

मातरम्॥४॥

वन्दे मातरम्

श्यामलाम् सरलाम्

सुस्मिताम् भूषिताम्

धरणीं भरणीं

मातरम्॥ ५॥

Facts About राष्ट्रीय गीत – वन्दे मातरम्।

  • “वंदे मातरम” पहली बार 1876 में बंकिम चंद्र चटर्जी के उपन्यास आनंदमठ में प्रकाशित हुआ था।
  • कविता शुरू में बंगाली में लिखी गई थी, लेकिन बाद में इसका कई अन्य भाषाओं में अनुवाद किया गया।
  • यह गीत भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में अत्यधिक प्रभावशाली था और स्वतंत्रता संग्राम के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा इसे एक आभासी राष्ट्रगान माना गया था।
  • कविता के पहले दो छंदों को आधिकारिक तौर पर 1950 में भारत के राष्ट्रीय गीत के रूप में अपनाया गया था।
  • यह गीत विवादों का विषय रहा है, कुछ मुस्लिम समूहों ने इसके कथित हिंदू धार्मिक ओवरटोन के कारण राष्ट्रीय गीत के रूप में इसके उपयोग पर आपत्ति जताई।
  • वंदे मातरम् का अनुवाद श्री अरबिंदो द्वारा अंग्रेजी में किया गया था, जिसे व्यापक रूप से स्वीकार और उपयोग किया जाता है।
  • इस गाने को रवींद्रनाथ टैगोर, जदुनाथ भट्टाचार्य और लक्ष्मीकांत प्यारेलाल सहित विभिन्न संगीतकारों ने संगीत दिया है।
  • यह गीत भारत में स्कूली पाठ्यक्रम का भी हिस्सा है और इसे छात्रों को पढ़ाया जाता है।
  • यह गीत स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस और अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं जैसे राष्ट्रीय आयोजनों पर भी गाया जाता है।
वंदे मातरम को गाने में कितना समय लगता है

इस उपन्यास में यह गीत भवानन्द नाम के संन्यासी द्वारा गाया गया है। इसकी धुन यदुनाथ भट्टाचार्य ने बनायी थी। इस गीत को गाने में 65 सेकेंड ( 1 मिनट और 5 सेकेंड) का समय लगता है।


राष्ट्रीय गीत कब गाया जाता है 

अक्सर राष्ट्रीय अवकाशों और अन्य महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्यक्रमों में बजाया या गाया जाता है। कुछ उदाहरणों में शामिल हैं:

स्वतंत्रता दिवस: स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान अक्सर राष्ट्रीय गीत बजाया या गाया जाता है।

गणतंत्र दिवस: गणतंत्र दिवस परेड के दौरान अक्सर राष्ट्रीय गीत बजाया या गाया जाता है।

राष्ट्रीय दिवस: राष्ट्रीय दिवस पर अक्सर राष्ट्रीय गीत बजाया या गाया जाता है।

राष्ट्रीय कार्यक्रम: राष्ट्र गीत अक्सर अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमों जैसे विजय दिवस, युद्ध में जीत, राष्ट्रीय खेल दिवस आदि पर बजाया या गाया जाता है।

स्कूल के कार्यक्रम: इसे स्कूल के कार्यक्रमों जैसे वार्षिक दिवस, गणतंत्र दिवस परेड आदि में भी बजाया या गाया जाता है।

राजनीतिक रैलियां: राष्ट्रीयता गर्व और अपने देश के प्रति प्रेम की भावनाओं को जगाने के लिए राजनीतिक रैलियों और बैठकों में राष्ट्र गीत भी बजाया या गाया जाता है।

👮

इन्हे बिजनेस और टेक्नोलॉजी, Movies के बारे में लिखना काफी पसंद है। इन्होंने B.tech और MBA किया है, इनकी लिखी हुई लेख कई अच्छे बड़े वेबसाइट पर प्रकाशित हुई है, ओर 6 साल का experience है अभी ये एक freelance के तौर पर यहां काम कर रही है .

Category: Current affairs

About 👮‍♀️राइटररिया

इन्हे बिजनेस और टेक्नोलॉजी, Movies के बारे में लिखना काफी पसंद है। इन्होंने B.tech और MBA किया है, इनकी लिखी हुई लेख कई अच्छे बड़े वेबसाइट पर प्रकाशित हुई है, ओर 6 साल का experience है अभी ये एक freelance के तौर पर यहां काम कर रही है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *