बैकलिंक क्या हैं और यह वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कैसे उपयोगी है?

बैकलिंक क्या हैं और यह वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कैसे उपयोगी है?

बैकलिंक क्या हैं और backlinks वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कैसे उपयोगी है

Hello  दोस्तों, इस पोस्ट  मैं backlinks क्या हैं, और SEO में backlinks का क्या महत्व के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से बताने की कोशिश करूँगा। आप SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) के बारे में पहले से ही जानते होंगे, अगर आप सर्च इंजन रिजल्ट में अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को पहले स्थान पर रखना चाहते हैं तो SEO एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

SEO को 2 प्रकारों ka होता है

  • On page SEO
  • Off-page SEO

On page SEO

On page SEO , आपका keyword research से लेकर जब आप वेबसाईट या ब्लॉग पर publish करते हो, उसे ऑन-page SEO कहते है । इसपे आपका internal linking , keyword research, google sitemap submit करना , अच्छा हेड्लाइन देना ओर अपना साइट को speed loading करवाना and SEO friendly website बनाना है।

Off-page SEO

Off-page SEO में, हम ब्लॉग पोस्ट publish करने के बाद प्रयास करते हैं। सबसे महत्वपूर्ण है बैकलिंक्स का निर्माण और एक सोशल मीडिया पर build  करना है  । जितना अधिक और बेहतर आप सर्च result से ट्रैफ़िक आकर्षित करेंगे उतना ही बेहतर होगा।

अगर आपको site rank करवानी है और अपना site DA/PA increase करवाना है तो Backlinks आपको जरुरत पड़ेगी . Backlinks (बैकलिंक्स) SEO हिन्दी ओर बैकलिंक्स से फायदा ? इस पोस्ट से आप बैकलिंक्स ओर बैकलिंक्स बनाना सीखेंगे ।

जब में blogging start किया था 2015 में , मुझे तब बताने वाला कोई नहीं था , और उस टाइम कम लोग थे जो blogging field में अपना experience शेयर करते थे .

सब लोग बस बताते थे बैकलिंक्स क्या होता है लेकिन कोई नहीं बताता था कैसे बैकलिंक्स बनाये .
आप अगर गूगल करोगे तोह “ what is backlinks” आपको लाखो रिजल्ट्स आ आजायेंगे .

लेकिन उस मे से एक भी website अपना backlinks शेयर नहीं करे ओर अपना बैकलिंक्स कैसे बनाया ये नहीं बताया ।
में आज आपसे , अपना बैकलिंक्स शेयर करूँगा , जिससे मेरा साइट का DA/PA साथ traffic भी increase हुआ .

मे आपको थोड़ी अपनी ज्ञान शेयर करता हु , backlinks क्या होता है . में सिर्फ सिंपल लैंग्वेज में बताऊंगा

SEO में Backlinks ka मतलब है , आपके वेबसाइट का लिंक उसके वेबसाइट में दिया है . अब वेबसाइट कुछ भी हो सकता है . आपका लिंक मेरे साइट में हो सकता है through comments या posts के अंदर .

और backlinks 2 type के होते है .

Do-follow backlinks

 (“<a href=https://www.google.com/ities> Google </a>”)


No-follow backlinks.

(“<a href=https://www.google.com/ertsrel=nofollowities> google </a>)

.
Do follow links वो लिंक होता है , जिसमे आपका दूसरे का वेबसाइट का power or quality आपके वेबसाइट में आजाए

Eg. अगर आप blood donote करोगे किसी को , तो आपका power उसके में चला जायेगा ( जिसको blood दे रहे हो ). कोई बीमारी या vitamins , proteins हो आपके ब्लड में वो उसके में चले जायेगा .

Same do-follow backlinks के साथ होता है . अगर किसी का high quality links है High DA/PA (70+ ) तो उसका 30-40% आपको मिल जायेगा .

No- follow links

No- follow links बिलकुल उल्टा है Do-follow का . न इसका koi फयदा है न इसका ब्लड काम का है . पर भी काफी जगह No-follow का लिंक्स important है . अगर आपको Wikipedia or medium जैसे website से link मिलेगा तो आपकी website का authority impove होगी .

और वैसे भी , google ने officialy नहीं बोला लेकिन , google से ही न्यूज़ आयी है की Do-follow or No-follow same treat होगा ।
आप जब हीं Backlinks create करोगे तो combination Do-follow and No-follow links बना के चलना ।
क्यों की एक natural process है । जैसे एक diet me fruits भी होना चाइये और vegetables भी ।

और ये जो में backlinks share कर रहा हु , काफी quality के है , ये backlinks मैंने जो website रैंक होती है गूगल पर उन website से लिया है

ये बात तो पक्का है आपकी वेबसाइट ka DA/PA and rank increase होगी ।
Agar आपको और अच्छी backlinks चाइये तो आप quality post लिखो । उससे आपको free में लोग आपको लिंक देंगे ।

मेरी एक साइट है , जिसमे India का population करने का control बताया था , इस पोस्ट को Newyork times पे reference दे कर लिंक किया है । तो आपकी क्वालिटी and अथॉरिटी पे आपको वर्क करनी होगा ।

Backlinks कितना भी बना लो , अगर पोस्ट में quality and आप user को retain नहीं कर पा रहे हो तो बैकलिंक्स का कोई मतलब नहीं . आप को बाउंस रेट काम करना होगा , इससे आपकी website रैंक होगी .

Backlinks एक tool है आपका website रैंक होने में मदद होगी . Google ki २०० factors है , ऐसे गूगल बताता है . ये 200 factors देख कर google रैंक करता है . उस 200 factors में बैकलिंक्स उसका एक factor है .

Google कभी disclose भी नहीं किया , अगर ऐसे करोगे तोह ही रैंक होगी . ये सब experience से पता चला की backlinks वेबसाइट के लिए important है .

आप जानते हैं कि डोमेन और पेज Authority किसी भी वेबसाइट के लिए महत्वपूर्ण है। इनके बिना, आपकी वेबसाइट top  30 में भी रैंक नहीं करेगी।अपने Blog की Domain Authority कैसे बढ़ाये?

एक ब्लॉगर के रूप में, मुझे इसका महत्व पता है । इस पोस्ट में, हम संक्षेप में बताएंगे कि आपको इन दो parameter  पर क्यों काम करना चाहिए।

मैंने 2016 में अपनी ब्लॉगिंग शुरू की, मैंने कई वेबिनार में भाग लिया, एसईओ से संबंधित कई किताबें पढ़ीं। मैंने ब्लॉगिंग में सफल होने के लिए सब कुछ किया। लेकिन आखिरकार, मैं असफल रहा।

ब्लॉगिंग में जल्दी सफलता की उम्मीद कभी न करें। ऐसा कभी नहीं होता। आजकल, मैं YouTube देख रहा हूं, कई YouTubers दावा कर रहे हैं कि वे 6 figures  में कमा रहे हैं, वह भी नए ब्लॉग के साथ 6 महीने में। जब मैंने उनसे वेबसाइट का खुलासा करने के लिए कहा, तो वे इनकार कर दिया ।

ये YouTubers नकली हैं, और उनका एकमात्र मकसद beginners bloggers  लोगों को गुमराह और पैसा कमाना  है।

वे जो कुछ भी करते हैं वह गलत जानकारी या किसी ओर की जानकारी आपको दिखते है ताकि आप  उस पर विश्वास आसानी से कर ले ।

और ये YouTubers कभी भी पूर्ण तथ्यात्मक जानकारी का खुलासा नहीं करते हैं। और वे आपको थोड़े समय में सब कुछ सीखने के लिए SEO- कोर्स खरीदने के लिए कहते हैं।

और आपको लगता है कि आप 6 महीने में 6 figures  में पैसा बनाएंगे। ऐसे जाल में मत पड़ो; शायद ही 0.1% सफल हो।

यही सच्चाई है। एक बार जब आप ब्लॉगिंग शुरू करते हैं, तो करते रहें। कभी ना रुको। सफलता आपके चरणों में आ जाएगी। और आपको सही दिशा में काम करने की आवश्यकता है।

कोई भी तब तक मदद नहीं करता जब तक कि आप अपनी मदद नहीं करते। हर कोई यहां व्यापार को बढ़ावा देने और करने के लिए है। कोई affiliate  course  बेचता है; कुछ Adsense कोर्स या SEO कोर्स बेचते हैं। जो भी हो, इन course  को कभी न खरीदें।

अधिकांश जानकारी Google पर निःशुल्क उपलब्ध है, जिससे मैं खरीदने की सलाह नहीं दूंगा।

ठीक है, शायद मे कुछ फालतू बात कर दिया ।

अपने वेबसाइट डोमेन Authority और पेज Authority को कैसे सुधारें?

वेबसाइट डोमेन अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी को बेहतर बनाने के लिए। आपको सिर्फ तीन चीजों की जरूरत है।

अपने Blog की Domain Authority कैसे बढ़ाये?

– Quality content

– Quality बैकलिंक

– Organic traffics

कई ब्लॉगर्स और विशेषज्ञों का मानना ​​है कि केवल बैकलिंक्स आपके डीए / पीए में सुधार कर सकते हैं। यह लगभग झूठा दावा है। बैकलिंक्स उपयोगी हैं, लेकिन सब कुछ नहीं। बैकलिंक केवल डीए / पीए बढ़ाने के लिए प्रमुख तत्व नहीं हैं।

 मुझे कुछ केसवर्क पर चर्चा करने दें।

मेरे पास एक वेबसाइट है; मैंने ज्यादा पोस्ट नहीं किया और न ही अच्छा रैंक कर रहा है । लेकिन मैंने एक high Authority की वेबसाइट से 200+ डू-फॉलो बैकलिंक्स बनाए। लेकिन फिर भी इसका DA नहीं बढ़ रहा है।

Website का authority 15 DA पर अटक गया है ।  इसके पीछे का कारण ऑर्गेनिक ट्रैफिक की कमी है। ऑर्गेनिक ट्रैफिक और quality content है । वेबसाइट अथॉरिटी और पेज अथॉरिटी को जज करने के लिए कोई पैरामीटर नहीं है।

अपने डोमेन authority और पेज authority को बेहतर बनाने के लिए, तीन चीजें होनी चाहिए।

– – Quality content

– Quality बैकलिंक

– Organic traffics।

इन तीन parameter  पर काम करें। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि quality content प्रदान करना, sahi बैकलिंक का निर्माण करना इससे आप का organic ट्राफिक आएगा । आखिरकार, यह आपके डोमेन authority और पेज authority में सुधार आएगा ।

कुछ प्रशनों के उत्तर ।

अपने Blog की Domain Authority कैसे बढ़ाये?

– Quality content
– Quality बैकलिंक
– Organic traffics
-regular Updates

Domain authority क्या है

ये एक आपके साइट का authority नापने का तरीका है ।

Domain authority कैसे चेक करे

आप डोमेन authority को moz या दूसरे टूल्स से चेक कर सकते हो।

क्या डोमेन के age से domain authority increase होता है।

बिल्कुल नहीं , इन कारणों से increase होती है .
Quality content
– Quality बैकलिंक
– Organic traffics
-regular Updates

यदि आपको कोई संदेह है, तो टिप्पणी अनुभाग का उपयोग करें। मैं तुरंत जवाब दूंगा।

सलाह के अंतिम शब्द

मुझे लगता है कि आप समझ गए हैं कि backlinks क्या है और यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का क्या महत्व है। अगर आपका कोई सवाल है तो कृपया कमेंट के माध्यम से पूछे अगर आपको पोस्ट पसंद आए तो कृपया इसे सोशल मीडिया पर शेयर करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *